Tuesday, May 21

बम और भूकंप से भी नहीं होगा इस पुल का बाल बांका, जितना खूबसूरत उतना मजबूत, यहां आसमान-जमीन के बीच चलेगी ट्रेन

जम्मू-कश्मीर में कटरा-बनिहाल सेक्शन पर उद्धमपुर-श्रीनगर-बारामुला रेल लिंक प्रोजेक्ट पर चिनाब ब्रिज बनाया जा रहा है. इस पुल की निर्माण लागत 1486 करोड़ रुपये है.

जम्मू-कश्मीर में कटरा-बनिहाल सेक्शन पर उद्धमपुर-श्रीनगर-बारामुला रेल लिंक प्रोजेक्ट पर चिनाब ब्रिज बनाया जा रहा है.
जम्मू-कश्मीर में कटरा-बनिहाल सेक्शन पर उद्धमपुर-श्रीनगर-बारामुला रेल लिंक प्रोजेक्ट पर चिनाब ब्रिज बनाया जा रहा है.

Chenab Bridge: भारत में दुनिया का सबसे बड़ा रेलवे ब्रिज बनकर तैयार हो रहा है. बेहद ऊंचा और यह विशाल पुल जम्मू-कश्मीर की वादियों के बीच स्थित है. पिछले कई सालों से चिनाब ब्रिज पर काम चल रहा है और अब हर किसी के मन में यह सवाल है कि आखिर इस खूबसूरत ब्रिज से गुजरकर यात्रा करने का मौका कब मिलेगा? इस ब्रिज के काम को पूरा करने के लिए भारतीय रेलवे ने 100 डे एक्शन प्लान तैयार किया है. चिनाब ब्रिज पर ट्रेन कब से दौड़ने लगेगी और यात्रियों को यह शानदार सफर करने का मौका कब मिलेगा? यह जानने से पहले आइये आपको बताते हैं दुनिया के इस सबसे ऊंचे रेलवे ब्रिज से जुड़े कुछ हैरान करने वाले फैक्ट्स.

क्यों खास है चिनाब ब्रिज

जम्मू-कश्मीर में कटरा-बनिहाल सेक्शन पर उद्धमपुर-श्रीनगर-बारामुला रेल लिंक प्रोजेक्ट पर चिनाब ब्रिज बनाया जा रहा है. चिनाब नदी के ऊपर बने इस पुल की ऊंचाई 359 मीटर है. खास बात है कि यह हाइट एफिल टॉवर से 35 मीटर ज्यादा है.
चिनाब ब्रिज को बनाने में 93 डेक सेगमेंट का इस्तेमाल किया गया है और हर डेक सेगमेंट का वजन 85 टन है. इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि इस पुल को खड़ा करने में कितना लोहा लगा है.
पहाड़ों के बीच और नदी के ऊपर बने चिनाब ब्रिज की मजबूती इतनी जबरदस्त है कि इस पर भूकंप और धमाके का कोई असर नहीं होगा. यह पुल ब्लास्ट और भूकंप रोधी है.
हिमालयी क्षेत्र में चिनाब ब्रिज को बनाना बहुत मुश्किल काम रहा लेकिन भारतीय इंजीनियरों ने इस मुश्किल सपने को साकार करके दिखाया. इस पुल को इस तरह डिजाइन किया गया है कि इस पर 100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से ट्रेन को दौड़ाया जा सकता है. इस ब्रिज की उम्र करीब 120 साल है.
चिनाब ब्रिज को भारतीय रेलवे का एक महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट रहा, जिसे कोंकण रेलवे कॉरपोरेशन लिमिटेड की देखरेख में तैयार किया गया है. इस पुल की निर्माण लागत 1486 करोड़ रुपये है. चिनाब ब्रिज को तैयार करने में आईआईटी, डीआरडीओ, जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया समेत कई इंटरनेशनल एजेंसियों ने अपना योगदान दिया है.
चिनाब ब्रिज पर कब दौड़ेगी ट्रेन?
चिनाब ब्रिज के बारे में इतना सब जानने के बाद मन में सवाल आ रहा है कि इस खूबसूरत नजारे का दीदार कब होगा. टीओआई की रिपोर्ट के अनुसार, चिनाब ब्रिज के इस साल ओपन होने की संभावना है. रेलवे के अधिकारी ने बताया कि चिनाब ब्रिज बनकर पूरी तरह से तैयार है, जैसे ही 111 किलोमीटर लंबा कटरा-बनिहाल सेक्शन तैयार हो जाता है तो यह ब्रिज ट्रेनों की आवाजाही के लिए खोल दिया जाएगा.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *