Sunday, March 3

लेम्पस ईरागांव एवं तोड़ासी धान केन्द्रो में किसान भाई धान बेचने लेम्पस में पहुँचने की रफतार तेज हुआ है।

केशकाल – केन्द्र सरकार द्वारा वर्ष 2022 को किसान भाईयों से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की शुरूवात 1 नवम्बर 2022 से 31 दिसम्बर 2022 तक निर्धारित किया गया है। किन्तु जिले के प्रायः सभी धान खरीदी केन्द्रों में खरीदी गई धान उठाव धीमी गति होने के चलते दिनो दिन क्षेत्र के सभी धान खरीदी केन्द्रों में धान उठाव नहीं होने के चलते जाम की स्थिमि बनी हई है। साथ में खरीदा गया सैकड़ों क्विंटल धान खुले आसमान के नीचे पडे़ हुये है। क्षेत्र के किसान भाई सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अुनसार लेम्पस प्रबंधकों द्वारा अपने पाँच सूत्रीय मांगो में प्रमुख रूप से धान खरीदी केन्द्र में खरीदा गया धान मिलरो द्वारा जल्दी उठाने की मांग करते हुए आंदोलन किया था। किन्तु इनके आंदोलन को राज्य के आबकारी मंत्री कवासी लखमा जिला कोण्डागांव प्रभारी को आंदोलन कारियों से वार्तालाप करके आंदोलन को समाप्त करने की जिम्मेदारी दिया गया था। मंत्री जी द्वारा आंदोलन कारियों से 1 नवम्बर 2022 को लेम्पस के प्रमुख पदाधिकारियों के साथ रायपुर में हुई चर्चा मुलाकात में इनके मांगो को राज्य के मुख्यमंत्री से मुलाकात कर मांगों पर ध्यान आर्कषण करने के साथ संतोषजनक निर्णय देने के वादे के साथ आदोलन को समाप्त करने में सफलता मिली साथ ही आंदोलनकारियों द्वारा दिनांक 02/11/2022 से आंदोलन समाप्त करते हुए अपने-अपने लेम्पस कार्यो के साथ धान खरीदी कार्यो में जुड़कर कार्य करना प्रारंभ किया गया। इसी प्रकार विकासखण्ड केशकाल अन्तर्गत संवेदनशील क्षेत्र ईरागांव  लेम्पस एवं तोड़सी लेम्पस में धान खरीदी केन्द्र ईरागांव में पंजीकृत किसानों की संख्या 589 किसानों में 42 किसान अपने धान को ईरागांव लेम्पस में बेचने की जानकारी मिला है, साथ ही ईरागांव खरीदी केन्द्र में दिनांक 24/11/2022 तक खरीदा गया मोटा धान की मात्रा 1912.60 क्विंटल खरीदा गया किन्तु पतला धान शून्य बताया गया। इसी प्रकार तोड़ासी लेम्पस में कुल पंजीकृत किसानों की संख्या 605 में 49 किसान अपने धान तोड़ासी केन्द्र में बेचने की जानकारी मिला है। तोड़ासी केन्द्र द्वारा दिनांक 24/11/2022 तक खरीदा गया मोटा धान मात्रा 2174.40 क्विंटल खरीदा गया किन्तु दोनो लेम्पसों में समाचार लिखे जाने तक पतला धान खरीदी शून्य होने की जानकारी मिला है।

जिला केन्द्रीय सहकारी समिति सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अुनसार कोण्डागांव जिले में खासकर विकासखण्ड केशकाल क्षेत्र में संचालित क्रमशः 9 लेम्पसों में धान उठाव के कार्य के लिए विकासखण्ड अन्तर्गत मिलरों द्वारा उठाने की शासन के आदेश नहीं होने पर जिले से बाहर का धमतरी जिले से मिलरों द्वारा केशकाल क्षेत्र के धान उठाने की जानकारी सूत्रों से मिला है। जिसमे मुख्य रूप से बहिगांव लेम्प्स एवं केशकाल लेम्प्स प्रमुख है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *