Friday, June 21

गैर संचारी रोगों की जांच के लिए चलेगा विशेष अभियान 30 वर्ष से अधिक आयु के लोगों की बी.पी., शुगर की जांच

उत्तर बस्तर कांकेर 27 दिसम्बर 2022 :-कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला ने जिले में गैर संचारी रोगों की जांच के लिए विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि जिले में निवासरत 30 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जाकर उनका ब्लड प्रेशर एवं शुगर की जांच किया जावे तथा पीड़ित पाये जाने पर संबंधित व्यक्ति का समुचित उपचार किया जाये। कलेक्टर ने आज अधिकारियों की बैठक लेकर इसके लिए अभियान चलाने तथा घर-घर सर्वे करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि प्रत्येक घर में जाकर 30 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जाकर बीपी एवं शुगर से पीड़ित पाये जाने पर उनकी सूची बनाकर उनका नियमित रूप से उपचार किया जावे। कलेक्टर ने सभी एसडीएम एवं जनपद सीईओ को इस कार्य की मॉनिटरिंग करने के निर्देश भी दिये। महिलाओं एवं बच्चों में एनीमिया की जांच करने के निर्देश उनके द्वारा दिये गये तथा स्कूलों में इसके लिए किसी एक शिक्षक को नोडल बनाने के लिए भी निर्देशित किया गया।

कोरोना से बचाव के लिए सावधानी बरतने की अपील

कोरोना से बचाव के लिए आवश्यक सावधानी बरतने तथा जिन व्यक्तियों ने अभी तक बूस्टर डोज का टीका नहीं लगवाया है, उन्हें बूस्टर डोज का टीका लगवाने की अपील भी कलेक्टर द्वारा की गई। सभी अधिकारी-कर्मचारियों को निर्देशित करते हुए कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला ने कहा कि यदि उनके परिवार में भी कोई व्यक्ति बूस्टर डोज का टीका नहीं लगवाया है तो उन्हें इसका टीका जरूर लगवायें।
कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला ने सुराजी अभियान के तहत जिले के पात्र व्यक्तियों का जाति प्रमाण पत्र बनाने, राशन कार्ड जारी करने एवं सामाजिक सहायता कार्यक्रम के तहत पेंशन योजना से लाभान्वित करने के लिए घर-घर सर्वे की समीक्षा किया एवं अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सुराजी अभियान से जिले के सभी पात्र व्यक्तियों को लाभान्वित किया जाये। मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लीनिक योजना के तहत मरीजों का उपचार की समीक्षा भी उनके द्वारा की गई तथा हाट-बाजार क्लिनिक में भी गैर संचारी रोगों की जांच करने के निर्देश दिये गये।
गोधन न्याय योजनांतर्गत गौठानों में गोबर की खरीदी और उससे वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण एवं उसका विक्रय की समीक्षा भी उनके द्वारा किया गया तथा गौठानों में अधिक से अधिक पैरा दान करने के निर्देश दिये गये। पैरा के ढुलाई के लिए 30-30 हजार रूपये की राशि गौठानों को उपलब्ध कराने की जानकारी भी उनके द्वारा दी गई। जनपद सीईओ को नगरीय क्षेत्रों के गौठानों का निरीक्षण कर गोबर की खरीदी एवं वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण की मॉनिटरिंग करने कहा गया। बताया गया कि जिले में अब तक 270 गौठान स्वावलंबी हो चुके हैं। मॉडल गौठान एवं गौठानों में बहुउद्देश्यीय गतिविधि की समीक्षा भी उनके द्वारा किया गया। शासकीय भवनों में गोबर से बने पेंट से ही पोताई करने के निर्देश दिये गये। नरवा विकास कार्यक्रम की समीक्षा भी उनके द्वारा की गई। बताया गया कि अब तक 695 नरवा विकास कार्यक्रम स्वीकृत किये गये हैं। उचित मूल्य दुकान सह गोदाम भवन निर्माण की समीक्षा भी कलेक्टर द्वारा किया गया, 94 स्वीकृत भवनों में से 47 पूर्ण एवं 47 प्रगतिरत होने की जानकारी दी गई। विद्यालय परिसर में स्थित जर्जर भवनों को तोड़कर उसके मटेरियल को अन्य निर्माण कार्यों में उपयोग करने के लिए भी जनपद सीईओ व एसडीएम को निर्देश दिये गये। बैठक में स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट विद्यालयों के लिए निर्माणाधीन भवनों के निर्माण में प्रगति, जल जीवन मिशन के कार्य तथा रूरल इंडस्ट्रियल पार्क (रीपा) एवं राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना अंतर्गत हितग्राहियों का चयन एवं मानदेय का वितरण और ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के तहत् कचरा शेड निर्माण की प्रगति की समीक्षा भी किया गया एवं अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। ग्रामीण सचिवालय को नियमित रूप से संचालित करने के लिए भी अधिकारियों को निर्देशित किया, साथ ही समय-सीमा के सभी प्रकरणों को शीघ्र निराकृत करने के निर्देश दिये गये। बैठक में अपर कलेक्टर एस. अहिरवार, वन मण्डलाधिकारी जाधव श्रीकृष्ण, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुमीत अग्रवाल सहित सभी जिला अधिकारी, एसडीएम, तहसीलदार, जनपद सीईओ एवं नगरीय निकायों के अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *