Tuesday, July 16

महानदी के उदगम स्थल में ’एक पेड़ मां के नाम’ अभियान के तहत विधानसभा सिहावा में रोपे गए विभिन्न प्रजाति के 200 पौधे

जनप्रतिनिधि, अधिकारी, कर्मचारी, विद्यार्थी, स्वयंसेवी संस्था के प्रतिनिधियों सहित बड़ी संख्या में लोगों ने ली पौधों को संरक्षित करने की शपथ

धमतरी 11 जुलाई 2024/ महानदी के उद्गम स्थल गणेश घाट पर आज जिला प्रशासन एवं वन विभाग के संयुक्त तत्वावधान में ’एक पेड़ मां के नाम’ वृक्षारोपण के महाभियान के तीसरे दिन आज सिहावा विधानसभा में विभिन्न प्रजाति के पौधों का रोपण किया गया। इस अवसर पर कलेक्टर सुश्री नम्रता गांधी, सीईओ जिला पंचायत सुश्री रोमा श्रीवास्तव, डीएफओ श्री श्रीकृष्ण जाधव, पूर्व विधायक श्रीमती पिंकी शाह, श्री श्रवण मरकाम, एनसीसी, स्काउट-गाइड, डाईट, शासकीय विद्यालय के विद्यार्थी, स्वयंसेवी संस्था के प्रतिनिधि, स्थानीय जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। जनप्रतिनिधियों, विद्यार्थियों सहित अधिकारी, कर्मचारियों ने गणेश घाट के दर्शन किए और साफ-सफाई भी की। इस मौके पर कलेक्टर ने जल संरक्षण के लिए स्वच्छता बनाए रखने और अधिक से अधिक पौधे लगाने की समझाईश उपस्थितों को दी।

कलेक्टर, सीईओ और डीएफओ ने स्कूली बच्चां से किया संवाद, प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी के दिये टिप्स
स्कूली बच्चों के विशेष आग्रह पर कलेक्टर सुश्री गांधी, सीईओ जिला पंचायत सुश्री रोमा श्रीवास्तव और डीएफओ श्री कृ ष्ण जाधव ने स्कूली बच्चो से संवाद किया। इस दौरान इन स्कूली बच्चों ने जिले के इन वरिष्ठ अधिकारियों से प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी किस तरह से किया जाये, प्रतियोगी परीक्षा में कैसे प्रश्न आते है, इस बारे में पूछा। कलेक्टर सुश्री गांधी ने बताया कि ने प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए सबसे जरूरी है लक्ष्य निर्धारित करना। लक्ष्य पूर्ति के लिए ईमानदारी से मेहनत करना। उन्होने बताया कि आप अभी से ही अपने सामान्य ज्ञान को बढ़ाते रहे, जिससे आगे चलकर इन परीक्षाओं में मदद मिलेगी। उन्होंने इन विद्यार्थियों को स्वाध्याय एप की जानकारी देते हुए बताया गया कि जिला प्रशासन द्वारा आप लोगों की सहायता के लिए यह एप बनाया गया है। आप सभी अपने लक्ष्य की पूर्ति के लिए इस एप का उपयोग कर सकते हैं। उन्होने कहा कि आप सभी इतनी तैयारी करें कि अंग्रेजी भाषा आपको समझ में आये। कलेक्टर ने विद्यार्थियों को समझाईश देते हुए कहा कि अगर किसी कारणवश आपका चयन यूपीएससी नहीं हुआ तो निराश न होवें आगे और भी मौके हैं। उन्होंने विद्यार्थियों को समझाईश दी कि मोबाईल से दूरी बनाए रखें और 25 साल तक की उम्र तक खूब मेहनत करना है। साथ ही खेलों में भी हिस्सा लेना जरूरी है, जिससे कि मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *