Monday, February 26

Day: November 25, 2023

जहाँ जहाँ पांव पड़े मंत्रिन के…! (व्यंग्य : राजेंद्र शर्मा
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर, लेख-आलेख

जहाँ जहाँ पांव पड़े मंत्रिन के…! (व्यंग्य : राजेंद्र शर्मा

किसी ने सच कहा है। डेमोक्रेसी में मंत्री होना बड़ी फजीहत का काम है। जो कहीं डेमोक्रेसी अपने इंडिया टाइप की हो‚ तब तो कहना ही क्याॽ बताइए‚ यूपी वाले नंदगोपाल गुप्ता जी‚ मिर्जापुर में दलित गंगाधर के घर भोजन के लिए पधारे‚ पर उसकी खबर तो बनी मुश्किल से चार लाइन की। गुप्ता जी की जात गई और दलित उद्धार के प्रचार का मजा भी नहीं आया। पर गुप्ता जी के घर में पांव पड़ने के बाद भी दलित गंगाधर के उद्धार में क्या-क्या कसर रह गई‚ इसकी कहानियां सुर्खियों में हैं। बेचारे मंत्री लोगों के दलितों का उद्धार करने में मुश्किलें ही मुश्किलें हैं। दलितों के साथ खाना नहीं खाएं, तो सब कहते हैं कि दलितों के साथ रोटी का रिश्ता ही नहीं रखना चाहते। दलितों के साथ रोटी का रिश्ता बनाने किसी दलित को अपने घर बुलाएं‚ तो लोग कहते हैं कि अपने हाथ का छुआ दलित को खिलाया तो क्या हुआ‚ दलित के हाथ का छुआ खाकर दिखाओ तो जानें। और कि...
डीए डीआर के आदेश में विलम्ब को लेकर कर्मचारियों और पेंशनरों में रोष : व्यूरोकेट पर अड़ंगा लगाने का आरोप
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

डीए डीआर के आदेश में विलम्ब को लेकर कर्मचारियों और पेंशनरों में रोष : व्यूरोकेट पर अड़ंगा लगाने का आरोप

*केयर टेकर मुख्यमंत्री से डीए डीआर बाबत अनुमोदन की जरूरत नहीं है* *अनुमति कर्मचारियों और पेंशनरों के लिए और आदेश ब्यूरोकेट अधिकारियों का* *एक ही तिथि में 42%और 46% के अलग अलग आदेश के पीछे राज क्या है?* निर्वाचन आयोग से अनुमति के बाद भी महंगाई की मार झेल रहे कर्मचारी और पेंशनरों को केंद्र की भांति महंगाई भत्ता और महंगाई राहत के भुगतान के लिए छत्तीसगढ़ राज्य सरकार से आदेश जारी करने में हो रहे विलम्ब से भारी रोष व्याप्त है और आरोप लगाया है कि इस अनावश्यक देरी के लिए केवल व्यूरोकेट ही जिम्मेदार है ऐसा प्रतीत होता है कि वे जानबूझकर अड़ंगा लगा रहे हैं। उक्त आरोप जारी विज्ञप्ति में छत्तीसगढ़ राज्य संयुक्त पेंशनर फेडरेशन के प्रदेश संयोजक तथा भारतीय राज्य पेंशनर्स महासंघ छत्तीसगढ़ प्रदेश के प्रांताध्यक्ष वीरेन्द्र नामदेव ने लगाया है। जारी विज्ञप्ति उन्होंने आगे बताया है कि 2017 से अबतक कई...
वरिष्ठ पत्रकार जवाहर नागदेव की खरी… खरी… केन्द्र में भाजपा ‘प्रधान’ के लिये कांग्रेस का मजाक उड़ाती है, छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री ‘विधायकों द्वारा चुनने’ का दम भरती है
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर, लेख-आलेख

वरिष्ठ पत्रकार जवाहर नागदेव की खरी… खरी… केन्द्र में भाजपा ‘प्रधान’ के लिये कांग्रेस का मजाक उड़ाती है, छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री ‘विधायकों द्वारा चुनने’ का दम भरती है

ये दोहरा मापदण्ड भी गजब है। जब भी केंद्र के चुनाव की बात आती है सबसे पहले भाजपा वाले व्यंग्य से पूछते हैं ‘विपक्ष के पास प्रधानमंत्री का एक चेहरा तक नहीं है। इनमें कैसे एकजुटता होगी’। इस बात पर विपक्ष वाले जवाब देते हैं कि ‘हमारे पास प्रधानमंत्री के लिये प्रत्याशियों की कमी नहीं है। बहुत सारे योग्य चेहरे हैं और हम जीतने के बाद तय करेंगे कि कौन प्रधान होगा’। दूसरी ओर छत्तीसगढ़ में मामला एकदम उल्टा हो जाता है। यहां पर मुख्यमंत्री के लिये कांग्रेस के पास चेहरा है भाजपा के पास नहीं। छत्तीसगढ़ मे कांग्रेस ये डायलाॅग मारती है कि ‘इनके पास मुख्यमंत्री के लिये कोई चेहरा नहीं है’ तब भाजपा वाले सफाई देते हैं कि ‘हमारे यहां पूरा लोकतंत्र है। जीतने के बाद विधायक तय करेंगे कि कौन मुख्यमंत्री होगा’। यानि दोनों ही पार्टियां अपनी-अपनी सुविधा के हिसाब से किसी गोले को कभी सूरज तो कभी चांद बता देती हैं। ...
केन्द्रीय विद्यालय कवर्धा में विद्यार्थियों द्वारा सामुदायिक भोजन का आयोजन
कवर्धा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

केन्द्रीय विद्यालय कवर्धा में विद्यार्थियों द्वारा सामुदायिक भोजन का आयोजन

केन्द्रीय विद्यालय कवर्धा में शनिवार को प्राथमिक विभाग के विद्यार्थियों द्वारा न्यूनतम साझा कार्यक्रम के तहत सामुदायिक भोजन का आयोजन किया गया | इस अवसर पर प्रभारी प्रधानाध्यापिका एवं कार्यक्रम समन्वयक श्रीमती उपासना जांगड़ा के निर्देशन में विद्यार्थियों द्वारा स्वर्निर्मित खाद्य वस्तुओं को प्रदर्शित करते हुए परस्पर आदान-प्रदान किए गए |. सर्वप्रथम “कुकिंग विदाउट फायर” से संबंधित व्यंजनों को वितरित किया गया एवं तत्पश्चात विभिन्न प्रकार के खाद्य व्यंजनों का आस्वादन प्रदर्शनी में आकर्षण का केंद्र था | विद्यालय के प्राचार्य श्री सुशील कुमार द्वारा उक्त प्रदर्शनी का निरीक्षण करते हुए सामुदायिक भोजन के महत्व की सराहना की गई तथा यह भी कहा गया कि इससे विद्यार्थियों में आत्मविश्वास की भावना का विकास होता है | इस कार्यक्रम के आयोजन में विद्यालय के अध्यापक श्री सुनील कुमार साहू, श्री दीपक कुमार चन्द्...
स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेशित विद्यार्थियों के लिए उन्मुखीकरण कार्यक्रम आयोजित
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेशित विद्यार्थियों के लिए उन्मुखीकरण कार्यक्रम आयोजित

रायपुर 24 नवम्बर 2023। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर में स्नातक पाठ्यक्रमों के प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों के लिए उन्मुखीकरण कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें कृषि महाविद्यालय रायपुर, स्वामी विवेकानंद कृषि अभियांत्रिकी एवं प्रौद्योगिकी महाविद्यालय रायपुर और खाद्य प्रौद्योगिकी महाविद्यालय रायपुर के विद्यार्थियों ने भाग लिया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि कुलपति डॉ. गिरीश चंदेल ने अपने संबोधन में कहा कि जब लक्ष्य बनाकर दृढ़ संकल्प लेकर कार्य किया जाता है तब सफलता अवश्य मिलती है। उन्होने बताया कि विज्ञान और सूचना प्रौद्योगिकी के माध्यम से कृषि में नये-नये आयाम साकार हुए हैं, जिसका लाभ किसानों बुद्धिजीवियों और जनमानस तक पहुंचा है। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में अधिष्ठाता छात्र कल्याण डॉ. संजय शर्मा, कृषि महाविद्यालय रायपुर के अधिष्ठाता डॉ. जी.के. दास, खाद्य प्रौद्योगिकी महाविद्यालय के अ...
गांधीनगर में ‘ग्लोबल प्रोफेशनल अकाउंटेंट कन्वेंशन’ में उपराष्ट्रपति के संबोधन का पाठ
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, देश-विदेश

गांधीनगर में ‘ग्लोबल प्रोफेशनल अकाउंटेंट कन्वेंशन’ में उपराष्ट्रपति के संबोधन का पाठ

New Delhi (IMNB) शुभ अभिवादन मैं वकालत के पेशे से आता हूं और यहां थोड़ा अलग-थलग महसूस करता हूं। मेरे और माननीय मंत्री प्रफुल्ल पंशेरिया जी, हमारे सभी चार्टर्ड अकाउंटेंट को छोड़कर, मेरे लिये बैठना इससे अधिक कठिन नहीं हो सकता था। मैं चार्टर्ड अकाउंटेंट को अंदर-बाहर से जानता हूं। उनसे मुझे बहुत लाभ हुआ है। जयपुर में मेरे पड़ोसी आपके पूर्व अध्यक्ष श्री सुनील गोयल थे। जब भी कठिनाई होती, वह सदैव उपलब्ध रहते। जब मैं 1989 में झुंझुनू लोकसभा सीट से निर्वाचित होकर पहली बार संसद में पहुंचा, तो मुझे मंत्री बनने का सौभाग्य मिला और मेरी मुलाकात श्री के. एम. मेमानी से हुई। वह मेरे राज्य से हैं, और मैं उनके राज्य से हूं। वह एक बहुत प्रतिभाशाली और बहुत व्यवस्थित व्यक्ति थे और उनमें कोई दोष नहीं था। मैंने सोचा था कि यह यात्रा रिटर्न दाखिल करने और मेरे खातों की ऑडिटिंग के साथ ही चार्टर्ड अकाउंटे...
सना’ साबित करती है कि किसी महिला की कहानी सुनाने के लिए आपका महिला होना ज़रूरी नहीं: पूजा भट्ट
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

सना’ साबित करती है कि किसी महिला की कहानी सुनाने के लिए आपका महिला होना ज़रूरी नहीं: पूजा भट्ट

निर्देशक को दूसरों को अपनी पूरी क्षमता से काम करने के लिए सशक्त बनाना चाहिए: राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता निर्देशक सुधांशु सरिया   News Delhi (IMNB). गोवा, 24 नवंबर 2023 अभिनेत्री पूजा भट्ट का कहना है, “सना साबित करती है कि किसी महिला की कहानी सुनाने के लिए आपका महिला होना ज़रूरी नहीं है। समाननुभूति किसी महिला का विशेषाधिकार नहीं है।’’ वह गोवा में 54वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (इफ्फी) में आज आयोजित संवाददाता सम्मेलन में अपनी बात रख रही थीं। उनकी फिल्म सना उन 3 भारतीय फिल्मों में से एक है, जो 54वें इफ्फी में प्रतिष्ठित स्‍वर्ण मयूर के लिए 12 अन्य फिल्मों के साथ प्रतिस्पर्धा करेगी। इस फिल्‍म की कहानी एक महत्वाकांक्षी महिला के इर्द-गिर्द घूमती है, जो अपने घाव के नहीं भरने की वजह से उत्‍पन्‍न हुए आंतरिक टकराव से जूझ रही है। पूजा भट्ट ने कहा कि गर्भपात जैसे अहम मुद्दे पर चर...