Monday, November 28

Day: August 29, 2022

छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय ने पति पर अनैतिक संबंध के आरोप और मंत्री से शिकायत को माना क्रूरता
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, हेल्थ & लाइफ-स्टाइल

छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय ने पति पर अनैतिक संबंध के आरोप और मंत्री से शिकायत को माना क्रूरता

बिलासपुर. छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय ने एक मामले में पत्नी द्वारा पति पर अन्य महिला से अनैतिक संबंध होने के आरोप लगाने और मंत्री से शिकायत कर उसका तबादला करने के अनुरोध को क्रूरता माना है. इसके साथ ही परिवार अदालत द्वारा तलाक को मंजूरी दिए जाने के खिलाफ पत्नी की अपील खारिज कर दी है. अधिवक्ता सी जयंत राव ने बताया कि छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय की युगल पीठ ने पत्नी द्वारा अपने पति के विरूद्ध मंत्री से शिकायत और बिना किसी तथ्य के एक महिला सहकर्मी के साथ अनैतिक संबंध के आधार पर पति के स्थानांतरण का दावा करने को क्रूरता की श्रेणी में माना है. राव ने बताया कि उच्च न्यायालय ने कहा है कि पत्नी का पति के कार्यालय में बार-बार आना तथा अभद्र भाषा के साथ माहौल खराब करना भी क्रूरता की श्रेणी में आएगा. न्यायालय ने फैसले में कहा है कि इस तरह पत्नी की प्रताड़ना का शिकार पति तलाक लेने का हकदार है. उन्होंने बताया कि...
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों को तीजा तिहार की दी बधाई
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों को तीजा तिहार की दी बधाई

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लोक पर्व तीजा (हरतालिका तीज) के अवसर पर प्रदेशवासियों को, विशेषकर महिलाओं को बधाई और शुभकामनाएं दी है. उन्होंने सभी तीजहारिन माताओं और बहनों के प्रति अपनी शुभकामनाएं प्रकट करते हुए लोगों के लिए सुख, समृद्धि और खुशहाली की कामना की है. मुख्यमंत्री ने आज यहां जारी अपने बधाई संदेश में कहा है कि छत्तीसगढ़ के जन-जीवन में पारंपरिक तीज-त्यौहार रचे बसे हैं. इनका हमारी संस्कृति में विशेष महत्व और प्रभाव रहा है. यहां तीजा की भी विशिष्ट परम्परा रही है. तीजा मनाने के लिए बेटियों को पिता या भाई उन्हें ससुराल से मायके लिवाकर लाते है. बुजुर्ग महिलाएं भी इस खास मौके का इंतजार करती हैं. इस मौके पर मायके में सहेलियां मिलकर अपना सुख-दुख साझा करती हैं. तीजा पर्व के एक दिन पहले करू भात ग्रहण करने की परम्परा है. तीज के दिन महिलाएं पति के दीर्घायु की मंगलकामना के साथ निर्जला व्रत...
हड़ताल में शामिल नहीं होने वाले कर्मचारियों को 25 से 29 जुलाई तक अवकाश स्वीकृत करते हुए किया जाए भुगतान
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

हड़ताल में शामिल नहीं होने वाले कर्मचारियों को 25 से 29 जुलाई तक अवकाश स्वीकृत करते हुए किया जाए भुगतान

रायपुर. सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा सभी विभागाध्यक्षों एवं कलेक्टर्स को निर्देश जारी कर कहा गया है कि विभिन्न कर्मचारी संगठनों के आव्हान पर जो कर्मचारी विगत 25 जुलाई से 29 जुलाई 2022 तक की अवधि में हड़ताल में थे एवं वर्तमान में हड़ताल में शामिल नहीं हुए हैं, उन्हें 25 जुलाई से 29 जुलाई 2022 तक हड़ताल अवधि को अवकाश स्वीकृत करते हुए वेतन भुगतान किया जाए. जारी निर्देश में कहा गया है कि जो कर्मचारी 25 जुलाई से 29 जुलाई तक हड़ताल में थे एवं 22 अगस्त 2022 से निरंतर हड़ताल में हैं उनकी अनुपस्थिति के संबंध में सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा 10 अप्रैल 2006 को जारी परिपत्र के अनुसार कार्यवाही की जाए. उक्त परिपत्र में जारी निर्देश के अनुसार अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी. बिना पूर्व स्वीकृति के सामूहिक अवकाश पर जाने की दशा में अथवा हड़ताल का वेतन इत्यादि देय नहीं होगा न ही इस प्रकार की अनुपस्थिति के दिवसों...
छत्तीसगढ़ : स्कूलों की इमारतों की मरम्मत और रखरखाव के लिए पांच सौ करोड़ रूपये स्वीकृत
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, हेल्थ & लाइफ-स्टाइल

छत्तीसगढ़ : स्कूलों की इमारतों की मरम्मत और रखरखाव के लिए पांच सौ करोड़ रूपये स्वीकृत

रायपुर. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य में शाला भवनों (स्कूलों की इमारतों) की मरम्मत और रखरखाव के लिए पांच सौ करोड़ रूपये स्वीकृत किए हैं. उन्होंने वर्षा ऋतु समाप्त होते ही मरम्मत का कार्य शुरू करने का निर्देश दिया है. जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी. अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव को सभी शालाओं में निर्विघ्न पढ़ाई सुनिश्चित करने के लिए वर्षा ऋतु समाप्त होते ही शाला भवनों की मरम्मत का कार्य तत्काल प्रारंभ करने का निर्देश दिया है. उन्होंने बताया कि बघेल ने मुख्य सचिव को दिए गए निर्देशों में कहा है कि राज्य व्यापी भेंट-मुलाकात अभियान के दौरान ग्रामीणों, जनप्रतिनिधियों तथा मीडिया प्रतिनिधियों से शाला भवनों की दशा के बारे में जानकारी मिली थी. अधिकारियों के मुताबिक लंबे समय से शाला भवनों की मरम्मत के लिए पर्याप्त राशि का प्रावधान नहीं होने ...
रमदहा जलप्रपात में डूबे तीन और लोगों के शव बरामद
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

रमदहा जलप्रपात में डूबे तीन और लोगों के शव बरामद

रायपुर. छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले के रमदहा जलप्रपात में रविवार को डूबे तीन और लोगों के शव सोमवार को बरामद कर लिए गए, जिससे इस हादसे में जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर छह हो गई. कोरिया जिले के कलेक्टर कुलदीप शर्मा ने यह जानकारी दी. शर्मा ने बताया कि राजधानी रायपुर से लगभग 300 किलोमीटर दूर कोटाडोल पुलिस थाना क्षेत्र के रमदहा जलप्रपात में डूबे अभय सिंह (22), श्वेता सिंह (22) और श्रद्धा सिंह (14) के शव सोमवार सुबह बरामद हुए. हादसे में मारे गए तीन अन्य लोगों-रत्नेश सिंह (26), हिमांशु सिंह (18) और ऋषभ सिंह (24) के शव रविवार को मिले थे. शर्मा के मुताबिक, मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिले के रहने वाले सिंह परिवार के 15 सदस्य रविवार को पिकनिक मनाने रमदहा जलप्रपात पहुंचे थे. उन्होंने बताया कि परिवार जब जलप्रपात के कुंड में नहा रहा था, तब उसके सात सदस्य पानी में डूब गए. शर्मा के अनुसार, घटना की जानकारी मि...
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद को श्रद्धांजलि अर्पित की
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद को श्रद्धांजलि अर्पित की

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज खेल दिवस के अवसर पर अपने निवास कार्यालय में हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की. इस अवसर पर मुख्यमंत्री बघेल ने कहा की मेजर ध्यानचंद ने अपने उत्कृष्ट खेल के बदौलत देश को गौरवान्वित किया है. उनके दौर में भारत ने हॉकी का स्वर्णिम दौर देखा है. ध्यानचंद में गोल करने की क्षमता कमाल की थी. उनके दौर में भारत ने 1928, 1932 एवं 1936 के ओलंपिक में गोल्ड मैडल जीते थे. उनसे प्रेरणा पाकर आज भी हॉकी के खिलाड़ी अपना बेहतर प्रदर्शन कर देश का नाम रोशन कर रहे हैं. गौरतलब है कि हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के जन्मदिवस को खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है....
छत्तीसगढ़ में गुणवत्तापूर्ण सड़कों का हो रहा है निर्माण : लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

छत्तीसगढ़ में गुणवत्तापूर्ण सड़कों का हो रहा है निर्माण : लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू

रायपुर. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य मे पुल पुलियों के निर्माण कार्यों में गुणवत्ता और तेजी लाने की बात कही है. इसके लिए मुख्यमंत्री ने कई जिलों में नए निर्माण कार्यों की घोषणाएं भी की हैं. मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार पुल निर्माण के लिए जगदलपुर, अम्बिकापुर, रायगढ़, बिलासपुर, दुर्ग और रायपुर में 10 कार्यों की स्वीकृति दे दी गई है. इसके साथ ही दस कार्यों का प्राक्कलन भी भेज दिया गया है. लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने मंत्री ताम्रध्वज साहू को जानकारी दी है कि छत्तीसगढ़ में 10 करोड़ रूपए से अधिक लागत के कुल 39 पुलों के कार्य हेतु जगदलपुर, अम्बिकापुर, रायगढ़, बिलासपुर, दुर्ग, रायपुर एवं कांकेर में 927.27 करोड़ रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्राप्त हुई है, जिसमें से 602 करोड़ रूपए खर्च किए जा चुके हैं. विभागीय अधिकारियों ने ये जानकारी दी है कि मुख्यमंत्री सुगम सड़क योजना अंतर्गत...