Wednesday, December 7

Day: July 17, 2022

सूरजपुर: घर में लगी आग, महिला और उसके दो नाबालिग बेटों की मौत
छत्तीसगढ़ प्रदेश

सूरजपुर: घर में लगी आग, महिला और उसके दो नाबालिग बेटों की मौत

कोरबा. छत्तीसगढ़ के सूरजपुर जिले में साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड (एसईसीएल) के कर्मचारियों के आवासीय क्वार्टर में आग लगने से 32 वर्षीय एक महिला और उसके दो नाबालिग बेटों की जलकर मौत हो गई. पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी. भटगांव पुलिस थाने के प्रभारी शरत चंद्र ने बताया कि घटना, जढ़ी स्थित आवासीय कॉलोनी में शनिवार रात को एसईसीएल कर्मी संजीव कुमार चौधरी के घर पर हुई. चंद्र ने कहा कि चौधरी रात्रि ड्यूटी पर गया था इसलिए वह घर पर नहीं था. एसएचओ ने कहा कि पड़ोसियों ने चौधरी परिवार के घर से निकलते धुएं को देखा. उन्होंने कहा कि आग की लपटें शयन कक्ष तक पहुंच गई जहां संजीव कुमार की पत्नी वसंती चौधरी और दोनों बेटे अनमोल (आठ) और हिमाचल (छह) सोये हुए थे. पड़ोसियों ने दरवाजा तोड़कर आग बुझाई. अधिकारी ने कहा कि सूचना पाकर पुलिस का दल घटनास्थल पर पहुंचा और महिला तथा दोनों बच्चों को सरगुजा जिले के अंबिकापुर में स्थित...
शिवजी पर कथित ‘आपत्तिजनक’ टिप्पणी करने पर छत्तीसगढ़ स्कूल के प्रधानाध्यापक गिरफ्तार
छत्तीसगढ़ प्रदेश

शिवजी पर कथित ‘आपत्तिजनक’ टिप्पणी करने पर छत्तीसगढ़ स्कूल के प्रधानाध्यापक गिरफ्तार

बलरामपुर. छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले के एक सरकारी स्कूल के प्रधानाध्यापक को भगवान शिव के बारे में कथित तौर पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी. बोरिया पुलिस चौकी प्रभारी रजनीश सिंह ने कहा कि कुंडीखुर्द के एक स्कूल के प्रधानाध्यापक फूलजेंस तिग्गा (53) को शनिवार को सोशल मीडिया पर भगवान शिव पर कथित ''आपत्तिजनक'' टिप्पणी करने के बाद गिरफ्तार किया गया. उन्होंने कहा, ''उन्हें एक हिंदू संगठन की शिकायत पर गिरफ्तार किया गया. तिग्गा को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.''...
गंगरेल बांध लबालब होने की स्थिति में 93% जलभराव के चलते खोले गए 14 गेट
छत्तीसगढ़ प्रदेश

गंगरेल बांध लबालब होने की स्थिति में 93% जलभराव के चलते खोले गए 14 गेट

रायपुर. राज्य में लगातार हो रहे बारिश के चलते रविशंकर सागर जलाशय गंगरेल बांध में 93 प्रतिशत जलभराव हो चुका है. कार्यपालन अभियंता, जल संसाधन संभाग रूद्री ए.के. पालड़िया ने बताया कि आज दोपहर तीन बजे बांध के 14 गेट खोलकर कुल 10 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है. इसमें से 7800 क्यूसेक पानी रेडियल गेट के जरिए और 2200 क्यूसेक पानी 10 मेगावॉट बिजली निर्माण हेतु इलेक्ट्रिक बोर्ड के लिए छोड़ा गया है. उन्होंने बताया कि गंगरेल बांध के कैचमेंट एरिया से 37 हजार क्यूसेक पानी आ रहा है. धमतरी जिला प्रशासन द्वारा नदी के आसपास के 45 गांवों में पानी छोड़ने संबंधी मुनादी कर सतर्क किया गया है....
छत्तीसगढ़ में ‘हर घर तिरंगा‘ अभियान में होगी जन-जन की भागीदारी: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

छत्तीसगढ़ में ‘हर घर तिरंगा‘ अभियान में होगी जन-जन की भागीदारी: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में ‘हर घर तिरंगा‘ अभियान की तैयारियों के संबंध में आयोजित बैठक में अपने निवास कार्यालय से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शामिल हुए. आजादी के अमृत महोत्सव के तहत 11 से 17 अगस्त तक ‘हर घर तिरंगा‘ अभियान आयोजित किया जा रहा है, इस अभियान में 13 से 15 अगस्त तक हर घर, शासकीय-निजी कार्यालयों, शैक्षणिक संस्थानों, अर्धशासकीय कार्यालयों, व्यावसायिक, वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों, गैर सरकारी संगठनों के कार्यालयों में तिरंगा झंडा फहराया जाएगा. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बैठक में इस अभियान के लिए छत्तीसगढ़ में की जा रही तैयारियों की विस्तृत जानकारी दी. उन्होंने कहा कि इस अभियान में जन-जन की भागीदारी सुनिश्चित करने के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं. अभियान के संबंध में शासकीय स्तर पर बैठक आयोजित की जा चुकी है, भारत सरकार द्वारा जो नि...
टीएस सिंहदेव का पंचायत विभाग से इस्तीफा अभी नहीं मिला है : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

टीएस सिंहदेव का पंचायत विभाग से इस्तीफा अभी नहीं मिला है : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

रायपुर. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रविवार को कहा कि उन्हें अभी तक मंत्री टी एस सिंहदेव का पंचायत विभाग से इस्तीफा नहीं मिला है और उन्हें इस्तीफा देने के उनके फैसले की जानकारी मीडिया से मिली है. इस बीच, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के छत्तीसगढ़ प्रभारी पी. एल. पुनिया ने कहा कि उन्होंने एआईसीसी महासचिव के. सी. वेणुगोपाल, बघेल और सिंहदेव से इस मुद्दे पर बात की है और इस पर आवश्यक कदम उठाया जाएगा. पुनिया 15 जुलाई से रायपुर के दौरे पर आए हैं. गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में सत्तारूढ़ कांग्रेस में बघेल और सिंहदेव के बीच खींचतान चल रही है तथा सिंहदेव ने शनिवार को पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग से इस्तीफा दे दिया. वह स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, चिकित्सा शिक्षा और जीएसटी विभागों के मंत्री बने रहेंगे. इस घटनाक्रम के बारे में पूछे जाने पर बघेल ने पत्रकारों से कहा कि उन्हें मंत्री के कदम के बारे मे...
छत्तीसगढ़: नक्सलियों का गढ़ अबूझमाड़ लीची उत्पादन का केंद्र बनने की राह पर
छत्तीसगढ़ प्रदेश

छत्तीसगढ़: नक्सलियों का गढ़ अबूझमाड़ लीची उत्पादन का केंद्र बनने की राह पर

नारायणपुर. नक्सलियों का गढ़ माने जाने वाले छत्तीसगढ़ के पहाड़ी क्षेत्र अबूझमाड़ को अगले कुछ वर्षों में लीची उत्पादन के केंद्र के तौर पर एक नयी पहचान मिलने की उम्मीद है. अधिकारियों ने बताया कि इलाके की अनुकूल भू-जलवायु दशाओं को देखते हुए स्थानीय प्रशासन आदिवासियों को लीची उत्पादन के लिए प्रोत्साहित करने के वास्ते एक अभियान चला रहा है. अबूझमाड़ लगभग 4,000 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है और इसका बड़ा हिस्सा बस्तर संभाग के नारायणपुर जिले में पड़ता है. यह स्थान राजधानी रायपुर से लगभग 350 किलोमीटर दूर है. अधिकारियों ने बताया कि बागवानी विभाग ने आदिवासी किसानों की आय बढ़ाने के लिए 10 गावों की करीब 200 एकड़ जमीन में लीची का उत्पादन करने की योजना तैयार की. नारायणपुर के बागवानी विभाग के सहायक निदेशक मोहन साहू ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘‘हालांकि, विभाग पिछले कुछ वर्षों से स्थानीय आदिवासियों को लीची क...
राष्ट्रपति निर्वाचन के लिए 18 जुलाई को मतदान, विधानसभा भवन में मतदान की तैयारियां पूरी
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

राष्ट्रपति निर्वाचन के लिए 18 जुलाई को मतदान, विधानसभा भवन में मतदान की तैयारियां पूरी

रायपुर. देश के 16वें राष्ट्रपति के निर्वाचन के लिए 18 जुलाई को मतदान होगा. प्रदेश के 90 विधायक विधानसभा भवन के समिति कक्ष क्रमांक-2 में बनाए गए मतदान केंद्र में वोट डालेंगे. इसके लिए वहां पूरी तैयारियां की जा चुकी हैं. मतदान का समय सवेरे दस बजे से शाम पांच बजे तक निर्धारित है. मतों की गिनती 21 जुलाई को नई दिल्ली में की जाएगी. भारत के राष्ट्रपति के चुनाव के लिए लोकसभा एवं राज्यसभा के निर्वाचित सांसदों और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र तथा पुडुचेरी संघ राज्य क्षेत्र सहित सभी राज्यों के निर्वाचित विधानसभा सदस्य मतदान करते हैं. इस निर्वाचन में भिन्न-भिन्न राज्यों के प्रतिनिधित्व के मान में एकरूपता एवं समतुल्यता प्राप्त करने के लिए संसद और प्रत्येक राज्य की विधानसभा के प्रत्येक निर्वाचित सदस्य जितने मत देने के हकदार हैं, उनके मान का अवधारण करने के लिए प्रत्येक राज्य की जनसंख्या पर आधारित एक फार्मूल...