Monday, November 28

Day: July 18, 2022

राष्ट्रपति पद के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल समेत सभी 90 विधायकों ने किया मतदान
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

राष्ट्रपति पद के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल समेत सभी 90 विधायकों ने किया मतदान

रायपुर. छत्तीसगढ़ के विधानसभा परिसर में सोमवार को राष्ट्रपति पद के लिए हुए मतदान में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल समेत सभी 90 विधायकों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों ने यह जानकारी दी. अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रपति पद के लिए हो रहे चुनाव में सोमवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, विधानसभा अध्यक्ष चरण दास महंत, राज्य मंत्रिमंडल के सदस्य, विपक्ष के नेता धरमलाल कौशिक, पूर्व मुख्यमंत्री रमन ह समेत सभी 90 विधायकों ने विधानसभा भवन के समिति कक्ष क्रमांक-दो में बनाए गए मतदान केंद्र में अपने मताधिकार का प्रयोग किया. उन्होंने बताया कि राज्य के कुरूद विधानसभा क्षेत्र के भारतीय जनता पार्टी के विधायक अजय चंद्राकर ने सबसे पहले अपने मताधिकार का प्रयोग किया. शाम तक सभी विधायक मत दे चुके थे. अधिकारियों ने बताया कि मतदान का समय सुबह दस बजे से शाम पांच बजे तक निर्धारित था. शाम पांच बजे...
पांच वर्ष जेल में बिताने के बाद दोषमुक्त आदिवासियों की बदल चुकी है दुनिया
छत्तीसगढ़ प्रदेश

पांच वर्ष जेल में बिताने के बाद दोषमुक्त आदिवासियों की बदल चुकी है दुनिया

रायपुर. छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में बुरकापाल नक्सली हमले में गिरफ्तार 121 आदिवासियों को अदालत ने बरी कर दिया है और उनमें से 108 ग्रामीण जेल से रिहा भी हो गए. लेकिन इन वर्षों के दौरान ग्रामीणों और उनके परिजनों ने कई चुनौतियों का सामना किया है. सुकमा जिले के जगरगुंडा गांव के निवासी हेमला आयतु उन 121 आदिवासियों में से एक है, जिन्हें 24 अप्रैल वर्ष 2017 में बुरकापाल में हुए नक्सली हमला मामले में गिरफ्तार किया गया था. इस हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 25 जवान शहीद हुए थे. आयतु लगभग पांच वर्ष से जेल में था. बीते शुक्रवार को एनआईए की विशेष अदालत ने आयतु और अन्य आदिवासियों को इस मामले से बरी कर दिया और शनिवार को वह अपने साथियों के साथ जेल से बाहर आ गए. लेकिन तब तक उसके लिए जेल से बाहर की दुनिया बदली चुकी थी. आयतु कहते हैं, ‘‘हमने उस अपराध के लिए पांच साल जेल में बिताए हैं, जो...
आईआईएम रायपुर में छात्रों की तुलना में अधिक छात्राओं ने लिया प्रवेश
छत्तीसगढ़ प्रदेश

आईआईएम रायपुर में छात्रों की तुलना में अधिक छात्राओं ने लिया प्रवेश

रायपुर. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में स्थित भारतीय प्रबंधन संस्थान (आईआईएम) के शैक्षणिक सत्र 2022-24 के लिए स्रातकोत्तर प्रबंधन पाठ्यक्रम में पहली बार छात्रों की तुलना में अधिक छात्राओं ने प्रवेश लिया है. संस्थान के जनसंपर्क अधिकारी विशाल मीणा ने बताया कि शैक्षणिक सत्र 2022-24 के लिए स्रातकोत्तर प्रबंधन पाठ्यक्रम में 203 लड़कियों को तथा 125 लड़कों को प्रवेश दिया गया है. मीणा ने बताया कि संस्थान में मौजूदा शैक्षणिक सत्र के लिए प्रबंधन में स्रातकोत्तर पाठ्यक्रम में 38 प्रतिशत लड़कों की तुलना में 62 प्रतिशत लड़कियां हैं. उन्होंने बताया कि शैक्षणिक सत्र 2021-23 में 141 लड़कों की तुलना में 118 लड़कियों ने प्रवेश लिया था. भारतीय प्रबंधन संस्थान (आईआईएम) रायपुर की स्थापना वर्ष 2010 में हुई थी. मीणा ने यह भी कहा कि आईआईएम-रायपुर छत्तीसगढ़ का एकमात्र राष्ट्रीय संस्थान है, जिसमें इस वर्ष लड़कों की तुलना म...
डॉ. खूबचंद बघेल छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के प्रथम स्वप्नदृष्टा थे: भूपेश बघेल
छत्तीसगढ़ प्रदेश

डॉ. खूबचंद बघेल छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के प्रथम स्वप्नदृष्टा थे: भूपेश बघेल

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और साहित्यकार डॉ. खूबचंद बघेल की 19 जुलाई को जयंती पर उन्हें नमन किया है. मुख्यमंत्री ने डॉ. बघेल के योगदान को याद करते हुए कहा कि खूबचंद जी ने अपना पूरा जीवन छत्तीसगढ़ के हितचिंतन में लगा दिया. समाज सुधारक, संवेदनशील साहित्यकार और कुशल चिकित्सक के रूप में उन्होंने समाज को एक नई दिशा दी. जीवन के अंतिम समय तक वे रचनात्मक और किसान-मजदूर हितैषी गतिविधियों से जुड़कर छत्तीसगढ़ की सेवा करते रहे. वे छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के प्रथम स्वप्नदृष्टा थे. मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि अध्ययन के दौरान ही डॉ. साहब राष्ट्रीय विचारधारा से प्रभावित होकर राष्ट्रीय आंदोलन में सक्रिय भागीदारी करने लगे. उन्होंने गांव-गांव घूमकर सैकड़ों युवाओं को प्रेरित किया और स्वाधीनता संग्राम से उन्हें जोड़ा. सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ उनके द्वारा लिखे नाटकों ने भी जनमानस पर...
उफनती शिवनाथ नदी में गिरी कार, 5 लोगों के कार में सवार होने की संभावना
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

उफनती शिवनाथ नदी में गिरी कार, 5 लोगों के कार में सवार होने की संभावना

दुर्ग. दुर्ग-राजनांदगांव मार्ग पर स्थित शिवनाथ नदी के पुराने पुल से रविवार रात एक कार अनियंत्रित होकर सीधे नदी में गिर गई. कार  4 से 5 लोगों के सवार होने की खबर है. जिनकी घटना के बाद से कुछ पता नहीं चल पाया है,वहीं शिवनाथ नदी के तेज बहाव में बही कार भी अब तक मिल नहीं पाई है. प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार यह घटना रात 12.30 के आसपास की है. कार अंजोरा से दुर्ग की ओर आ रही थी. जिसमें उन्होने 4 से 5 लोगों के सवार होने की संभावना जताई है ,लेकिन अभी तक कार में कितने लोग थे. इसकी अधिकारिक पुष्टि नही हो पाई है. कार सवार कौन थे और कहां जा रहे थे. इस संबंध में भी कुछ जानकारी नहीं मिल पाई है. प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार कार सवार खुद खतरा उठाकर शिवनाथ नदी के पुराने पुल को पार कर रहे थे. पुल को पार करने के लिए कार में बैठे लोगों ने शिवनाथ नदी पुल के छोर में सुरक्षा के लिए लगे बेरिकेट्स को हटाया और कार से...
प्रथम सावन सोमवार: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने निवास में लगाया रुद्राक्ष का पौधा
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

प्रथम सावन सोमवार: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने निवास में लगाया रुद्राक्ष का पौधा

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज प्रथम सावन सोमवार को यहां अपने निवास में 'हर घर हरियाली' अभियान के तहत रुद्राक्ष का पौधा लगाया. इस अवसर पर संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत भी उपस्थित थे.
एसडीआरएफ की रेस्क्यू टीम ने गर्भवती महिला का कराया सुरक्षित प्रसव
छत्तीसगढ़ प्रदेश, हेल्थ & लाइफ-स्टाइल

एसडीआरएफ की रेस्क्यू टीम ने गर्भवती महिला का कराया सुरक्षित प्रसव

बीजापुर. बीजापुर जिले में लगातार बारिश की वजह से जन-जीवन प्रभावित हो गया है, वहीं शासन-प्रशासन द्वारा पूरी तरह मुस्तैदी के साथ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करबीजापुर जिले में लगातार बारिश की वजह से जन-जीवन प्रभावित हो गया है, वहीं शासन-प्रशासन द्वारा पूरी तरह मुस्तैदी के साथ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर आवश्यक राहत एवं बचाव का कार्य नगर सेना के एसडीआरएफ टीम द्वारा बचाव एवं रेस्क्यू कार्य बखूबी किया जा रहा है. इसी बीच गंगालूर तहसील अर्न्तगत ग्राम झारगोया की एक घटना उभरकर सामने आयी जिसमें तहसीलदार गंगालूर एवं सीईओ जनपद पंचायत बीजापुर को जानकारी मिली कि एक गर्भवती महिला सरिता गोंदी पति विजय गोंदी को अत्यधिक प्रसव पीड़ा हो रही है. फिर सीईओ एवं तहसीलदार द्वारा तत्काल एसडीआरएफ टीम को सूचना दी गई. ग्राम झारगोया में नदी का जलस्तर ज्यादा होने के कारण बिना रेस्क्यू टीम के गर्भवती महिला को अस्पताल ले ...